सेक्युलरों के दोगलेपन की इंतिहा : डॉ नारंग, रामपुर, केरल पर 1 अवार्ड वापसी नहीं, 1 शब्द नहीं

अभी बीते दिनों शबनम हाश्मी नाम की बुद्धिजीवी ने अपना अवार्ड वापस कर दिया सेक्युलर तत्व दिल्ली के जंतर मंतर पर हिन्दुओ को आतंकवादी बताकर प्रदर्शन कर रहे है, देश में असहिष्णुता पार्ट-2 की शुरुवात कर दी गयी है 

अवार्ड वापसी सीजन -2 की शुरुवात भी हो चुकी है इन सेकुलरों ने दोगलेपन में जैसे पीएचडी किया हुआ है, और कई उदाहरण इस बात का प्रमाण है 

बल्लभगढ़, दादरी, अलवर की घटनाओं पर तो सेक्युलर तत्व चींख पुकार मचा रहे है पर दिल्ली में ही डॉ नारंग की बांग्लादेशियों ने हत्या कर दी, रामपुर में 2 दलित बालिकाओं के साथ दरिंदगी का खेल खेला गया 

और केरल में तो आये दिन किसी न किसी की हत्या वामपंथी तत्वों द्वारा कर दी जाती है पर इन मामलों में सेक्युलर तत्वों की तरफ से 1 अवार्ड वापसी तो क्या, उनके मुँह से 1 शब्द भी नहीं निकल सका 

आख़िरकार कितना दोगलापन करेंगे ये देश के सेक्युलर तत्व हिन्दुओ को आतंकवादी घोषित करने में ये कितने लालायित रहते है, देखिये कैसे ये वामपंथी हिन्दुओ को आतंकवादी बता रहा है 

इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ कभी प्रदर्शन न करने वाले लोग डॉ नारंग से लेकर केरल तक की हुई घटनाओं पर हमेशा मौन साधे रखने वाले लोग, हिन्दुओ को आतंकी बताने के लिए बड़े उत्सुक है और इनके दोगलेपन ने सारी सीमाएं ही तोड़ कर रख दी है 

Comments

Write a Comment

Related Articles